April 18, 2024
4G Service

4G Service: आधुनिक जीवन की बात करें तो 2011 आते आते स्मार्टफोन जीवन का अभिन्न अंग बन गया। इसमें संचार व्यवस्था से बढ़ कर बहुत कुछ मिलने लगा। यूके की पहली 4जी सेवा लांच हुई तो 2012 में 11 शहरों में स्मार्टफोन पर डाउनलोड स्पीड बढ़ कर 12एमबीपीएस हो गई। सैमसंग ने अपने गैलेक्सी एस5 में बिल्ट इन हार्ट रेट मॉनीटर जोड़ दिया।

4G Service: वीडियो स्ट्रीमिंग और वीडियो कालिंग

इंफोपोस्ट डेस्क


4G Service: पूरी दुनिया 2015 में 4जी सेवा को अपनाने लगी। क्योंकि वीडियो स्ट्रीमिंग और वीडियो कालिंग सेवाओं ने लोगों को आकर्षित करना शुरू कर दिया था। इसी दौर में स्मार्टफोन की स्क्रीन का आकार बढ़ने लगा। क्योंकि लोग नए नए फीचर का अधिकतम अनुभव करना चाहते थे। वर्ष 2018 तक स्क्रीन साइज का लोगों के लिए बड़ा मायने हो गया।
आई फोन की बात करें तो उसके 7प्लस के डिस्प्ले का आकार इसके 2007 वाले आई फोन के मुकाबले 57 प्रतिशत तक बढ़ गया। बात यहीं तक सीमित नहीं रही। मोबाइल भुगतान की सुविधा के आफर ने एक और क्रांति पैदा कर दी। भारत में नोटबंदी के दौर में इस सुविधा का भरपूर लाभ उठाया गया।

यूके की पहली 5जी सेवा दे रही है दुनिया भर में दस्तक

वर्तमान की बात करें, तो यूके की पहली 5जी सेवा दुनिया भर में दस्तक दे रही है। इससे क्या क्या सुविधाएं मिलेंगी, अभी बहुत कुछ साफ होना बाकी है। कहा जा रहा है कि इससे सुपीरियर डाटा स्पीड मिल पाएगी। इस स्पीड से अल्ट्रा हाई रेजोलूशन वीडियो स्ट्रीमिंग और बेहतर मोबाइल गेमिंग का अनुभव संभव हो पाएगा।
स्क्रीन अनुभव की बात करें, तो हैंडसेट डिजाइन में तरह तरह के बदलाव सामने आ रहे हैं। वन प्लस ने अपनी 7प्रो डिवाइस में पॉप अप सेल्फी कैमरा की शुरुआत की। हम कहां से चले थे और अब कहां पहुंच गए हैं? 1973 में दुनिया की पहली मोबाइल फोन काल डॉक्टर मार्टिन कूपर ने की। वह मोटरोला के एक कर्मचारी थे।

पहला व्यावसायिक स्वचालित सेल्यूलर नेटवर्क

वर्ष 1979 में जापान ने पहला व्यावसायिक स्वचालित सेल्यूलर नेटवर्क शुरू किया। लेकिन उस समय यह केवल कारों में उपलब्ध था। इसी को हम 1जी के नाम से जानते हैं। 1981 में
1जी ने पश्चिमी देशों में दस्तक दे दी। पहले स्कैंडिनेविया फिर यूके और उत्तरी अमेकिका में 1जी का इस्तेमाल किया जाने लगा।
वर्ष 1983 में दुनिया की पहली मोबाइल फोन सेल लगी। इसमें मोटरोला डायनाटैक 8000एक्स की कीमत करीब 4000 अमेरिकी डालर थी। वर्ष 1989 में पहला ट्रुली पोर्टेबल मोबाइल फोन सामने आया। यह मोटरोला 9800एक्स था, जिसमें फोन के कीबोर्ड को कवर करने वाल स्लाइडर था।

 

1 thought on “4G Service: जब स्मार्टफोन जीवन के लिए जरूरी हो गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | ChromeNews by AF themes.